What is Yogurt in Hindi ? जानिए इसके लाजवाब फायदे

What is Yogurt in Hindi ? जानिए इसके लाजवाब फायदे

what is yogurt made of-What is Yogurt in Hindi
What is Yogurt in Hindi

Tags-what is yogurt,what is greek yogurt,what is yoghurt,what is yogurt made of,what is yogurt good for,what is frozen yogurt,what is greek yogurt made of,what is greek yoghurt,what is probiotic yogurt,what to eat with greek yogurt,Difference between Curd and Yogurt in Hindi

About Yogurt in Hindi: दूध हमारे पेय पदार्थों का सबसे अहम हिस्सा होता है। दूध में सभी तरह के खनिज तो पाए ही जाते हैं साथ ही इसका उपयोग कई रूपों में किया जाता है। दोस्तों आपने दूध से बना हुआ पनीर, घी, मावा, मखन्न आदि का सेवन तो अवश्य किया होगा लेकिन दूध से बना हुआ एक और बेहद पौष्टिक खाद्य पदार्थ है जिसका नाम शायद ही आप जानते हों। जी हाँ आज हम आप से ‘योगर्ट’ कि बात कर रहे हैं।


आप में से कुछ लोगों ने yogurt का नाम शायद पहली बार सुना होगा इसलिए कई लोगों के जहन में तमाम तरह के सवाल उठ रहे होंगे। तो आपके सवालों का समाधान करने के लिए ही आज हम आपको ना सिर्फ योगर्ट के बारे में विस्तारपूर्वक बताएँगे बल्कि इसके कई फायदों से भी रूबरू करवाएंगे। तो चलिए शुरू करते हैं।

 

योगर्ट क्या होता है | What is Yogurt in Hindi

योगर्ट दूध से तैयार किया गया एक प्रकार का खाद्य पदार्थ होता है। योगर्ट एक ऐसा खाध पदार्ध होता है जिसको आप आपने मन चाहे फ्लेवर में प्राप्त कर सकते हैं। बता दें कि yogurt आड़ू, मेंगो, स्टॉबेर्री, ब्लूबेरी आदि कई प्रकार के flavours में पाया जाता है। योगर्ट का रंग सफेद और स्वाद खट्टा होता है एवं देखने में यह क्रीम अथवा दही की तरह ही लगता है।

 

दही और योगर्ट में अंतर | Difference between Curd and Yogurt in Hindi
 
कई लोग दही और योगर्ट को एक ही समझते हैं। वे यह मानते हैं कि दही को ही अंग्रेजी में Yogurt कहा जाता है, ऐसा इसलिए क्योंकि यह दोनों पदार्थ दूध से ही तैयार किये जाते हैं, दोनों ही डेयरी उत्पाद हैं एवं दोनों का स्वरूप भी एक ही है। अगर आप भी यही समझते हैं तो आप गलत हैं। दरअसल दही और योगर्ट ये दोनों ही एक दूसरे से भिन्न हैं। चलिए आपको दोनों के बीच का अंतर समझाते हैं।

दोस्तों दही का उपयोग प्राचीन काल से ही होता आ रहा है जबकि किसी गलती के कारण योगर्ट बनाने की शुरुआत मध्य एशिया में अचानक से हुई थी एवं धीरे-धीरे 19वीं शताब्दी में योगर्ट का प्रचलन बढ़ता गया। बता दें दही का निर्माण ”लैक्टोबैसिलस” नामक बैक्टीरिया के द्वारा होता है जबकि योगर्ट का निर्माण बैक्टीरिया ”लैक्टोबैसिलस और स्ट्रेप्टोकॉकस थर्मोफिलस” की मदद से होता है।

दही एक थक्के के रूप में जमता है जबकि योगर्ट एक क्रीम के रूप में जमता है। दोनों खाद्य वस्तुओं में खास अंतर यही है कि दही का केवल एक ही रूप होता है जबकि yogurt कई फ्लेवर में पाया जाता है एवं योगर्ट से दही अधिक खट्टा होता है। योगर्ट इसी नाम से जाना जाता है इसका कोई भी हिंदी नाम नहीं है। जबकि दही एक हिंदी नाम है और इसे अंग्रेजी में Curd के नाम से जाना जाता है। सबसे बड़ी बात यह है कि दही का निर्माण घर पर आसानी से किया जा सकता है लेकिन योगर्ट का निर्माण घर पर करना मुश्किल है।

 

योगर्ट और दही किस जानवर के दूध से बनाया जाता है

यदि आप यह सोच रहे हैं कि दही और योगर्ट किस जानवर के दूध से तैयार किया जाता है। तो आपको बता दें योगर्ट एवं दही को अलग-अलग देशों में अलग-अलग जानवर के दूध से तैयार किया जाता है। योगर्ट और दही को गाय, भैंस, बकरी, ऊंट, याक, घोड़ी आदि के दूध से तैयार किया जा सकता है।

 
 
योगर्ट में मौजूद पौष्टिक तत्व | Nutrients of Yogurt in Hindi
योगर्ट काफी फायदेमंद है बता दें की इसमें अच्छी मात्रा में प्रोटीन पाया जाता है। इसके अतरिक्त योगर्ट में फॉस्फोरस, कैल्शियम, राइबोफ्लेविन, विटामिन B2, जिंक, पोटैशियम, आयोडिन, विटामिन B-12, विटामिन डी, कार्बोहायड्रेट, डाइटरी फाइबर, आयरन, पैंटोथेनिक एसिड, विटामिन B6, मैग्नीशियम, कॉपर, थाइमिन, नियासिन जैसे कई तत्वों के साथ ही एंटीऑक्सीडेंट और एंटीबैक्टीरियल गुण पाए जाते हैं।

 

योगर्ट के जबरदस्त फायदे | Benefits of Yogurt in Hindi

योगर्ट अद्भुत गुणों से युक्त होता है इसलिए इसको अद्भुत पदार्थ भी कहा जा सकता है। हालाँकि योगर्ट का निर्माण रसायनिक क्रिया के द्वारा किया जाता है लेकिन दूध से बने अन्य पदार्थों की तुलना में ये अधिक स्वास्थ्यप्रद, गुणकारी व शक्तिवर्धक होता है। तो चलिए दोस्तों अब हम आपको योगर्ट से होने वाले फायदों से अवगत करवाते हैं।

 

1. ऑस्टियोपोरोसिस में है फायदेमंद
वर्तमान समय में सेहत के प्रति सावधानी व सतर्कता रखना बेहद जरुरी हो गया है क्योंकि सेहत के प्रति लापरवाही करने से अनेक प्रकार के रोग शरीर को अपना शिकार बना लेते हैं। अतः ऑस्टियोपोरोसिस भी एक ऐसा ही रोग है जिसका प्रमुख्य कारण जीवनशैली में खान-पान और व्यायाम के प्रति लापरवाही को माना जाता है।


बता दें कि ऑस्टियोपोरोसिस रोग दिन-व-दिन तेजी से बढ़ रहा है एवं विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुताबिक ऑस्टियोपोरोसिस विश्व में दूसरा सबसे प्रचलित रोग है। यदि आप भी Osteoporosis रोग से ग्रस्त हैं या फिर आपने शरीर को इस रोग से बचाना चाहते हैं तो आप योगर्ट का उपयोग कर सकते हैं। योगर्ट में कैल्शियम, फॉस्फोरस, प्रोटीन, आयरन की उच्च मात्रा पाई जाती है जो हड्डियों और मांसपेशियों को मजबूत बनाने में मदद करते हैं।

 

2. शरीर को हाइड्रेट करने में है लाभकारी
शरीर को स्वस्थ रखने व स्फूर्ति प्रदान करने के लिए शरीर को हाइड्रेट रखना जरुरी होता है। शरीर को हाइड्रेट रखने के लिए पानी की अधिक आवश्यकता होती है। पानी के आलावा कई तरह के फलों का सेवन भी शरीर को हाइड्रेट करने के लिए किया जाता है। लेकिन कई लोग ऐसे भी होते हैं जो सही मात्रा में पानी का सेवन नहीं करते हैं जिसके कारण ऊर्जा का स्तर कम हो जाता है। इस वजह से थकान, सिरदर्द, चक्कर आना जैसी परेशानियों का सामना करना पड़ता है।

याद रखें योगर्ट शरीर को हाइड्रेट करने में मदद करता है क्योंकि इसमें फाइबर और ऊर्जा भरपूर मात्रा में पाई जाती है। यदि आप अपने शरीर को हाइड्रेट रखना चाहते हैं तो योगर्ट का इस्तेमाल आपके लिए फायदेमंद साबित होगा।

 

3. ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करने में है फायदेमंद
हाई ब्लड प्रेशर आज के समय में एक विश्वव्यापक समस्या बन गया है। आप प्रत्येक घर में ब्लड प्रेशर का रोगी आसानी से देख सकते हैं। ब्लड प्रेशर एक खतनाक रोग है एवं इसको नियंत्रित करना प्रत्येक रोगी के लिए आवश्यक होता है क्यूंकि इसको गंभीर रोगों का जन्मदाता माना जाता है जो व्यक्ति को लाचार और बेवस बना देते हैं।

ब्लड प्रेशर को नियंत्रित्र करने के लिए आप दही का प्रयोग कर सकते हैं। दरअसल yogurt में पोटैशियम, फाइबर जैसे कई गुणकारी तत्व पाए जाते हैं जो ब्लड प्रेशर को कण्ट्रोल करने में फायेमंद होते हैं।

 

4. श्वेत प्रदर में है लाभकारी
श्वेत प्रदर महिलाओं में होने वाला एक आम रोग है जिसको ल्यूकोरिया के नाम से भी जाना जाता है। बता दें कि इस रोग में योनि से सफ़ेद रंग का दुर्गन्ध युक्त सफ़ेद गाढ़ा पानी निकलता है इसलिए इस रोग को सफ़ेद पानी भी कहा जाता है। श्वेत प्रदर एक ऐसा रोग है जो शारीरिक शक्तियों को तो नुकसान पहुंचता ही है साथ ही मानसिक क्षति का कारण भी बनता है।

योगर्ट में अनेक प्रकार के खनिज तत्व पाए जाते हैं जो श्वेत प्रदर को कम करने में मदद करते हैं। योगर्ट का प्रतिदिन सेवन करने से श्वेत प्रदर धीरे-धीरे ठीक होने लगता है।

 

5. वजन को करता है कम
मोटापा एक ऐसा रोग बन गया है जिसको आप बड़े, वृद्ध, युवा, स्त्री, पुरुष सभी में सामान रूप से देख सकते हैं। हम सभी जानते हैं कि बड़ा हुआ मोटापा स्वास्थ और जीवन दोनों के लिए बेहद ही खतरनाक होता हैं। चूँकि वजन बढ़ने के कारण हार्ट अटैक आना, गुर्दों का ख़राब होना, मधुमेह रोग होना, दमा, गठिया, ब्रेन हैमरेज, कैंसर आदि कई बिमारियों को उत्पन्न करता है। योगर्ट में पोटैशियम, फाइबर, मैग्नीशियम प्रचुर मात्रा में पाया जाता है जो वजन को कम करने में फायदेमंद होता है।

 

6. कब्ज का करता है नाश
कब्ज का अर्थ होता है कोष्टबद्ध्य्ता अर्थात मल का सरलता से निकास नही होना। कब्ज होने के कारण पेट में भारीपन रहता है, ठीक से भूंक नहीं लगती है, शौंच करने में कठनाई होती है, शरीर में सुस्ती और आलस्य बना रहता है इसके आलावा अन्य बीमारियां उत्पन्न हो जाती हैं। इसलिए प्रत्येक रोगी को कब्ज का निराकरण जल्द से जल्द करना चाहिए।

यदि आप भी कब्ज रोग से पीड़ित हैं तो आप योगर्ट का सेवन कर सकते हैं। बता दें कि योगर्ट केवल कब्ज रोग में ही लाभकारी नहीं होता है बल्कि पेट से जुड़े अनेक रोगों को ठीक करने में फायदेमंद होता है।

 

7. बालों को बनाता है मुलायम
प्रत्येक व्यक्ति की इच्छा होती है कि उसके सिर के बाल काले, घने और मुलायम हों। लेकिन जब बालों को सही पोषण नहीं मिलता है तो बाल टूटने झड़ने लगते हैं एवं रूखे बेजान हो जाते हैं। दोस्तों बालों को पोषण मुख्य रूप से आहार और पेय पदार्थों के द्वारा ही प्राप्त होता है। इसलिए शरीर में होने वाले पौष्टिक पोषक तत्वों की कमी के कारण बाल समस्या ग्रस्त हो जाते हैं।

बालों की इस समस्या का निराकरण आप योगर्ट से कर सकते हैं। योगर्ट में प्रोटीन, कैल्शियम, आयरन, विटामिन B12 भरपूर मात्रा में पाया जाता है जो बालों को चमकदार और घना बनाने में मदद करते हैं।

 

8. चेहरे को बनाता है चमकदार
चेहरे को खबसूरत बनाने के लिए आज का युवा वर्ग हर संभव प्रयास करता है। इसलिए वह मार्किट में उपलब्ध महंगे से मंहगे कई तरह के प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल करता है। परन्तु प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल करने के पश्चात् विपरीत असर हो जाता है क्योंकि मार्किट में उपलब्ध प्रोडक्ट्स कैमिकल युक्त होते हैं जो त्वचा को क्षति पहुंचाते हैं।

यदि आप प्राकृतिक तरीके से चेहरे को दाग धब्बों से रहित और चमकदार बनाना चाहते हैं तो आप yogurt का इस्तेमाल कर सकते हैं। बता दें प्रतिदिन योगर्ट का सेवन करने से चेहरे पर चमक आती है। योगर्ट से चेहरे पर मसाज करने से रंग साफ़ होता है, झुर्रियां दूर होती हैं एवं चेहरे पर गुलाबी निखार आता है।


 

योगर्ट के अन्य फायदे | Some Other Yogurt benefits in Hindi

1. योगर्ट पाचन तंत्र को मजबूत बनाने में फायदेमंद होता है।

2. योगर्ट में मेथी मिलकर बालों में लगाने से रुसी की समस्या से निजात मिलती है।

3. प्रतिदिन योगर्ट की चेहरे पर मसाज करने से मुँहासे ठीक हो जाते हैं।

4. योगर्ट में विटामिन डी और कैल्शियम भरपूर मात्रा में पाया जाता है जो हाड़ियों को बलशाली बनाते हैं।

5. योगर्ट के सेवन से तनाव कम होता है अर्थात योगर्ट तनाव को कम करने में फायदेमंद होता है।

6. योगर्ट में आयरन पाया जाता है। इसलिए योगर्ट एनीमिया रोगियों के लिए फायदेमंद होता है।
 
7. योगर्ट की मदद से आप अपने दांतों को मजबूत बना सकते हैं। योगर्ट में विटामिन डी पाया जाता है जो दंतों की हड्डियों के लिए लाभकारी विटामिन होता है।

 

योगर्ट का उपयोग | Uses of Yogurt in Hindi

जैसा की हम आपको ऊपर बता चुकें हैं कि कई लोग योगर्ट के बारे में नहीं जानते हैं। इसलिए योगर्ट के फायदों को जानने के बाद अनेक लोग यह जानना चाहते होंगे कि आखिर इसका उपयोग किस प्रकार से किया जाता है। तो आपकी इस परेशानी का समाधान करने की लिए अब हम आपको योगर्ट के समस्त उपयोग बताने वाले हैं।

1. योगर्ट का उपयोग काला या सफेद नमक डालकर आप नाश्ते के रूप में कर सकते हैं।

2. केक को नया फ्लेवर देने के लिए आप योगर्ट का इस्तेमाल कर सकते हैं।

3. फ्रूट रायता बनाकर आप योगर्ट का उपयोग कर सकते हैं।
 
4. सब्जी का जायका बढ़ाने के लिए आप योगर्ट का उपयोग कर सकते हैं।

5. कड़ी बनाकर आप योगर्ट का उपयोग कर सकते हैं।

6. छाछ के रूप में आप योगर्ट का इस्तेमाल कर सकते हैं।

7. चीनी मिलाकर योगर्ट का उपयोग किया जा सकता है।

8. पुलाव के साथ योगर्ट का इस्तेमाल कर सकते हैं।

 

योगर्ट से होने वाले नुकसान | Side Effects of Yogurt in Hindi

दोस्तों योगर्ट को एक राषिणिक क्रिया के द्वारा तैयार किया जाता है इसलिए यदि इसका इस्तेमाल असावधानी पूर्वक किया जाता है तो योगर्ट शरीर को कई तरह के नुकसान पहुंचा सकता है। तो आइये जानते हैं योगर्ट से होने वाले नुकसान कौन कौनसे हैं।

1. योगर्ट का अधिक सेवन करने से खट्टी डाकरों की समस्या उत्पन्न हो सकती है।
2. योगर्ट की गुणवत्ता देख कर ही इस्तेमाल करना चाहिए क्योंकि ख़राब गुणवत्ता युक्त योगर्ट का इस्तेमाल करने से उल्टी, दस्त की समस्या उत्पन्न हो सकती है।
3. योगर्ट चिनाई युक्त पदार्थ है इसलिए कफ से पीड़ित लोगों के लिए इसका अत्यधिक सेवन नुकसान पहुंचा सकता है।

Post a Comment

0 Comments